माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: 3 की मौत

माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: 3 की मौत

माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: तीनो की मौत
माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: 3 की मौत

माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: 3 की मौत

Advertisements

माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: 3 की मौत [News VMH-Agra, Krishnkant Dubey] आगरा न्यू लॉयर्स कॉलोनी से दिल दहला देनी वाली घटना सामने आ रही है, यहाँ पर एक कारोबारी ने पहले अपनी बुजुर्ग मां और बेटे को मारा और उसके बाद सुसाइड कर लिया, सुसाइड से पहले बनवाया वीडियो मिला है, पत्नी अपनी ननद के साथ खाटू श्याम दर्शन हेतु गई थी इसलिए बच गई।

पीवीसी फैक्ट्री संचालक थे तरुण चौहान

आगरा में पीवीसी फैक्ट्री के संचालक तरुण चैहान अपनी पत्नी रजनी, बेटे 12 साल के कुशाग्र और बुजुर्ग मां ब्रजेश चैहान के साथ रहते थे लॉयर्स कॉलोनी में रहे थे। तरुण चौहान की बहन गुंजन सिकंदरा में रहती है, तरुण चौहान की बहन गुंजन अपनी भाभी रजनी को लेकर सुबह खाटू श्याम मंदिर चली गई, पीछे से तरुण चौहान ने अपनी माँ, अपने बेटे को मरने के बाद आत्महत्या कर ली।

Advertisements
Astrologer Sanjeev Chaturvedi

नौकरानी के घर आने पर चला पता

जब सुबह घर का काम करने के लिए नौकरानी आई, तो उनके घर के सभी कमरों के दरवाजे खुले हुए थे, नौकरानी ने अंदर देखा तो उसके होश उड़ गए, बेड पर बुजुर्ग ब्रजेश चैहान और 12 साल के बेटे कुशाग्र का शव पड़ा हुआ था, साथ ही कमरे में तरुण का शव पंखे पर झूल रहा था, कुछ ही देर में उनकी पत्नी और बहन भी आ गईं, तीनों की मौत हो चुकी थी, परिवार के तीन सदस्यों की मौत से कोहराम मच गया। तरुण की पत्नी रजनी आंवलखेडा की रहने वाली हैं, 15 साल पहले शादी हुई थी। कुछ महीने पहले तरुण के पिता की भी मौत हो गई थी, इसके बाद से वे ज्यादा परेशान थे।

बनाया था वीडियो

कारोबारी तरुण प्रताप का एक वीडियो भी मिला है। इस वीडियो में वह कह रहे हैं कि मैंने आर्थिक रुप से परेशान होकर इस तरह का कदम उठा लिए जो सही नहीं हैं, मैं अपनी पत्नी, मां, बेटे को खत्म करने के बाद अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहा हूं।

image 30
माँ बेटे को मार फाँसी पर झूला व्यापारी: 3 की मौत

घर से बाहर होने से बच गई जान

वीडियो के आधार पर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि कारोबारी तरुण सिंह आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे, बताया जा रहा है कि उनके ऊपर लगभग 2 करोड़ रुपये का कर्जा था, इसके चलते वे अवसाद में हो सकते हैं। इन हालातों में उन्होंने यह कदम उठाया, उन्होंने पूरे परिवार को खत्म करने के बाद सुसाइड करने का कदम उठाया था लेकिन पत्नी उनकी बहन के साथ खाटू श्याम मंदिर में दर्शन करने चली गईं इसलिए वे बच गईं।

निबंधन विभाग के भ्रष्टाचारियों पर कब होगी कार्यवाही

Advertisements
Advertisements

Leave a comment

Discover more from News VMH

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading