बड़े बकायादारों के विरूद्ध दंडात्मक कार्यवाही कर बकाया की वसूली की जाए – News VMH

बड़े बकायादारों के विरूद्ध दंडात्मक कार्यवाही कर बकाया की वसूली की जाए

बड़े बकायादारों के विरूद्ध दंडात्मक कार्यवाही कर बकाया की वसूली की जाए।
बड़े बकायादारों के विरूद्ध दंडात्मक कार्यवाही कर बकाया की वसूली की जाए।

बड़े बकायादारों के विरूद्ध दंडात्मक कार्यवाही कर बकाया की वसूली की जाए

रिपोर्ट रोहित यादव वी.एम.एच न्यूज़

उप जिलाधिकारी, तहसीलदार स्वयं वसूली के लिए क्षेत्र में निकलें-जिलाधिकारी।
दायरा के अनुसार वादों का निस्तारण किया जाय, उप जिलाधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार नियमित रूप से वादों की सुनवाई करें-अविनाश।

जनपद मैनपुरी मे आज मुख्य देय की वसूली की खराब प्रगति पर तहसीलदार भोगांव, किशनी, कुरावली, खनन में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष वसूली की खराब प्रगति पर खनन निरीक्षक को चेतावनी जारी करने, बड़े बकायेदारों से वसूली न करने पर उप जिलाधिकारी करहल को कारण बताओं नोटिस जारी करने, तहसीलदार करहल का वेतन रोके जाने, कृषि भूमि आवंटन में तहसील मैनपुरी की प्रगति खराब पाए जाने पर तहसीलदार, उप जिलाधिकारी सदर को कारण बताओं नोटिस जारी करने, बड़े बकायादारों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही कर बकाया की धनराशि वसूली करने, गृहकर, जलकर की वसूली में सुधार लाने, पुराने वादों पर जल्दी-जल्दी तिथि देकर प्राथमिकता पर निस्तारित किए जाने, डग्गेमार, ओवरलोडेड वाहनों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही किए जाने, अवैध शराब के कारोबार में संलिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही किए जाने, प्रवर्तन कार्य बढ़ाकर राजस्व वसूली के निर्धारित लक्ष्य की शत-प्रतिशत पूर्ति किये जाने के निर्देश दिये।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की मासिक समीक्षा के दौरान देते हुये नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्य देय, विविध, विद्युत, परिवहन, वाणिज्य कर, रॉयल्टी, स्टांप देय की लंबित आर.सी. की वसूली में तहसीलों द्वारा रुचि नहीं ली जा रही है, अमीनों द्वारा निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष वसूली भी नहीं की जा रही, समस्त तहसीलों में संग्रह व्यय भी मानक से काफी अधिक है।

उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि उप जिलाधिकारी, तहसीलदार बकाया धनराशि की वसूली पर ध्यान दें, क्षेत्र में निकल कर बाकीदारों से बकाया की धनराशि जमा करायें अन्यथा उत्तरदायित्व निर्धारित कर कार्यवाही होगी।

उन्होने असंतोष व्यक्त करते हुये कहा कि बड़े बकायादारों से बकाया की राशि वसूलने में भी लापरवाही बरती जा रही है, जिस कारण लंबित आर.सी. की वसूली की प्रगति बेहद निराशाजनक है, सम्बन्धित इस ओर ध्यान दें, बड़े बकायादारों से वार्ता न करें बल्कि उनकी चल-अचल सम्पत्ति कुर्क कर बकाया की वसूली करें।

श्री सिंह ने विभागवार राजस्व वसूली की समीक्षा के दौरान संबंधित विभाग के अधिकारियों से कहा कि चालू वित्तीय वर्ष के निर्धारित लक्ष्य की शत-प्रतिशत पूर्ति सुनिश्चित करें, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन की वसूली गत वर्ष के सापेक्ष काफी कम है, इसे सुधारने के लिए विशेष प्रयास किये जायें, जानकारी करने पर ए.आई.जी. स्टाम्प ने बताया कि माह दिसम्बर में 41 बैनामों की जॉच में स्टाम्प कमी संज्ञान में आयी, जिस पर रू. 115.47 लाख का अर्थदंड लगाया गया, चालू वित्तीय वर्ष में अब तक रू. 18018 लाख लक्ष्य के सापेक्ष रू. 7836 लाख की वसूली की गयी है, जो निर्धारित लक्ष्य का मात्र 43.49 प्रतिशत है। उन्होने विद्युत देय की वसूली की समीक्षा करने पर पाया कि रू. 65602 लाख के सापेक्ष रू. 27751 लाख की वसूली की जा चुकी है, विद्युत चोरी रोकने के लिए माह में 124 प्राथमिकी दर्ज करायी गयीं, वित्तीय वर्ष में 01 अपै्रल से अब तक विद्युत चोरी में 1810 एफ.आई.आर. दर्ज हुयीं, ओ.टी.एस. योजना में 55855 उपभोक्ताओं का पंजीकरण कराकर रू. 49 करोड़ 34 लाख एवं विद्युत चोरी के 1690 उपभोक्ताओं से पंजीकरण कराकर विद्युत का रू. 01 करोड़ 97 लाख जमा कराया गया साथ ही विद्युत चोरी के प्रकरण में रू. 79 लाख का समन शुल्क भी जमा हुआ, आबकारी की वसूली में जनपद प्रदेश में 12वें एवं मंडल में दूसरे स्थान पर है, अवैध शराब की बिक्री रोकने के लिए विभाग द्वारा निरतंर अभियान संचालित कर रहा है, माह दिसम्बर में 06 व्यक्तियों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराकर जेल भेजा गया, परिवहन, वाणिज्यकर, खनन विभाग द्वारा माह दिसम्बर में संयुक्त रूप से बालू, मोरम के 04 वाहनों से रू. 07 लाख 92 हजार का जुर्माना वसूला गया।

श्री सिंह ने वादों की समीक्षा के दौरान कहा कि 03 वर्ष से अधिक पुराने वादों पर प्रतिदिन तिथि देकर वादों के निस्तारण में तेजी लायी जाए, दायरा के अनुसार वादों का निस्तारण किया जाये। उन्होने कहा कि धारा-34, धारा-24, धारा-80, धारा-67, धारा-122 बी. के वाद बड़ी संख्या में उप जिलाधिकारियों, तहसीलदारों के न्यायालय में लंबित है, इन वादों के निस्तारण की भी प्रगति सुधारी जाये। उन्होंने राजस्व वादों के निस्तारण में राजस्व अधिकारी की प्रशंसा की। उन्होने कृषि, आवास, कुम्हेरी कला पट्टा आवंटन की खराब प्रगति पर असंतोष व्यक्त करते हुए उप जिलाधिकारियों से कहा कि इस माह के अंत तक पट्टा आवंटन के लक्ष्यों की शत-प्रतिशत पूर्ति करना सुनिश्चित करें, पट्टा आवंटन में पूरी पारदर्शिता बरती जाए।

बैठक में अपर जिलाधिकारी राम जी मिश्र, राजस्व अधिकारी धु्रव शुक्ला, उप जिलाधिकारी सदर, भोगांव, घिरोर, कुरावली, अभिषेक कुमार, संध्या शर्मा, राज कुमार, राम नारायण, डिप्टी कलेक्टर नितिन कुमार, जिला आबकारी अधिकारी दिनेश कुमार, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी शिवम यादव, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी सलिल द्विवेदी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी जगदीश दीक्षित, प्रशासनिक अधिकारी हरेन्द्र कुमार, कलेक्टेªट के विभिन्न अनुभाग प्रभारी, समस्त तहसीलदार, अन्य सम्बन्धित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Leave a comment