पोषण अभियान के अंतर्गत गठित जिला पोषण समिति की बैठक की

Advertisements
पोषण अभियान के अंतर्गत गठित जिला पोषण समिति की बैठक की
पोषण अभियान के अंतर्गत गठित जिला पोषण समिति की बैठक की।

पोषण अभियान के अंतर्गत गठित जिला पोषण समिति की बैठक की

Advertisements

रिपोर्ट रोहित यादव वी.एम.एच न्यूज

जनपद मैनपुरी में चिन्हित सैम बच्चों के अभिभावकों को प्रेरित कर पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती कराकर उन्हें सुपोषण की श्रेणी में लाया जाये कुपोषण मुक्त जनपद बनाने में बाल विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मिलकर कार्य करें मैनपुरी मे 18 जनवरी, 2024- जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने पोषण अभियान के अंतर्गत गठित जिला पोषण समिति की बैठक में सी.डी.पी.ओ., खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि अगले 02 दिन में प्रत्येक दशा में विद्यालय की 200 मीटर की परिधि के बाहर संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों में गैस, बर्तन की उपलब्धता सुनिश्चित करायें ताकि उन आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों को भी हॉट कुक्ड योजना के अन्तर्गत पका-पकाया गर्म भोजन मिल सके।

उन्होने असंतोष व्यक्त करते हुये कहा कि अभी जनपद के 270 आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों को गैस, बर्तन न होने के कारण योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है, यदि 02 दिन में नॉन कोलोकेटेड विद्यालयों में हॉट कुक्ड योजना प्रारंभ नहीं हुयी तो जिम्मेदारी तय कर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

ई-कवच पोर्टल पर सैम, मैम बच्चों की फीडिंग,

उन्होंने समीक्षा के दौरान ई-कवच पोर्टल पर सैम, मैम बच्चों की फीडिंग, फॉलोअप फीडिंग की प्रगति खराब पाए जाने पर असंतोष व्यक्त करते हुये कहा कि आशा, ए.एन.एम. आपस में समन्वय स्थापित कर सैम, मैम बच्चों, गर्भवती महिलाओं की सेहत सुधारने की दिशा में कार्य करें, बीपीएम, बीसीपीएम ई-कवच पर प्रतिमाह फीडिंग का कार्य करना सुनिश्चित करें।

Advertisements
Astrologer Sanjeev Chaturvedi

बाल विकास परियोजना अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि


श्री सिंह ने प्र. चिकित्साधिकारियों, बाल विकास परियोजना अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि चिन्हित अति कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को प्रेरित कर उन्हें पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराकर उनकी सेहत में सुधार लाया जाए, एन.आर.सी. का कोई बेड किसी दिन खाली न रहे, प्रत्येक विकासखंड से चिन्हित बच्चों को एन.आर.सी. में भर्ती कराया जाए।

उन्होने समीक्षा के दौरान पाया कि जनपद में 2736 सैम एवं 5529 मैम बच्चे चिन्हित हैं, जिनमें से माह दिसम्बर में 392 सैम एवं 589 मैम बच्चों की सेहत में सुधार हुआ है, माह दिसम्बर में पोषण पुनर्वास केन्द्र में 15 बच्चे भर्ती हुये, माह दिसम्बर में विकास खंड करहल, किशनी, घिरोर, जागीर से एक भी बच्चा पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती नहीं हुआ, सर्वाधिक 04-04 बच्चे विकास खंड बरनाहल, बेवर से एन.आर.सी. में भर्ती कराये गये, जिस पर उन्होने नाराजगी व्यक्त करते हुये प्र. चिकित्साधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी करहल, किशनी, घिरोर, जागीर से कहा कि कार्यशैली सुधारें, तत्काल क्षेत्र के चिन्हित सैम बच्चों को एन.आर.सी. में भर्ती कराकर उनकी सेहत सुधारने की दिशा में कार्य करें।

उन्होने समीक्षा के दौरान पाया कि जनपद के 483 आंगनबाड़ी केन्द्रों मे 02 या 02 से अधिक सैम बच्चे हैं, विकास खंड सुल्तानगंज केे 89, घिरोर के 71, मैनपुरी देहात के 69 आंगनबाड़ी केन्दों के अधीन सर्वाधिक सैम बच्चे चिन्हित हैं, जिस पर उन्होने सम्बन्धित सी.डी.पी.ओ. से कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्री, आशा, ए.एन.एम. के माध्यम से चिन्हित बच्चों की सेहत की बेहतर देखभाल करायें।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नेहा बंधु, मुख्य चिकित्साधिकारी आर.सी.गुप्ता, डिप्टी कलेक्टर, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुप्रिया गुप्ता, समस्त खंड विकास अधिकारी, प्र. चिकित्साधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी आदि उपस्थित रहे, बैठक का संचालन बाल विकास परियोजना अधिकारी हरिओम बाजपेई ने किया।

यह भी पढ़िए।

Advertisements
Advertisements

Leave a comment

Discover more from News VMH

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading