पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल – News VMH

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल [News VMH-Mainpuri, ROhit Yadav] मैनपुरी: 18 मार्च 2024 को मैनपुरी के किशनी थाना क्षेत्र के कुसमरा गांव में एक दारोगा ने वर्दी में हर्ष फायरिंग कर दी।

भगवत कथा में की हर्ष फायरिंग

यह घटना तब हुई जब गांव में भागवत कथा का आयोजन चल रहा था। आरोपी दारोगा का नाम श्याम सिंह है और वह वर्तमान में औरैया में एसआई के पद पर तैनात हैं।

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

किशनी का निवासी है दरोगा

दरोगा श्याम सिंह मूल रूप से मैनपुरी के किशनी का निवासी हैं। हर्ष फायरिंग का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल, हर्ष फायरिंग का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

कोर्ट ने हर्ष फायरिंग को किया है बैन

वीडियो में दरोगा श्याम सिंह को भागवत कथा स्थल पर हवा में फायरिंग करते हुए देखा जा सकता है। इस घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। सुप्रीम कोर्ट ने हर्ष फायरिंग पर लगाई है रोक।

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

नहीं है कानून का भय

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में हर्ष फायरिंग पर पूर्ण रोक लगा दी थी। इसके बावजूद भी दरोगा श्याम सिंह ने हर्ष फायरिंग की, जो कि कानून का खुला उल्लंघन है।

दारोगा के खिलाफ जांच के आदेश

मैनपुरी के पुलिस अधीक्षक ने आरोपी दारोगा श्याम सिंह के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि यदि दारोगा दोषी पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
पुलिस की वर्दी में दरोगा ने की हर्ष फायरिंग, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

यह घटना पुलिस की छवि को धूमिल करती है

यह घटना पुलिस की छवि को धूमिल करती है। लोगों का पुलिस पर विश्वास कम होता जा रहा है। ऐसी घटनाओं से पुलिस की विश्वसनीयता पर सवाल उठते हैं।

Leave a comment