जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा के दौरान असंतोष व्यक्त करते हुए कहा

Advertisements
जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा के दौरान असंतोष व्यक्त करते हुए कहा
जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा के दौरान असंतोष व्यक्त करते हुए कहा।

जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा के दौरान असंतोष व्यक्त करते हुए कहा

Advertisements

रिपोर्ट रोहित यादव वी.एम.एच न्यूज

जनपद मैनपुरी में शिक्षक, चिकित्सक को मानवता की सेवा करने का अवसर मिला है, इस अवसर को व्यर्थ न जाने दे स्वास्थ्य केद्रांे पर गर्भवती की सर्जरी, अन्य व्यवस्थाएं दुरूस्त रहे, घर पर प्रसव होना चिन्ताजनक- जिलाधिकारी अविनाशने मैनपुरी मे 18 जनवरी, 2024-को जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा के दौरान असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि जनपद में माह दिसंबर में 157 घरेलू प्रसव हुए हैं, जिसमें सर्वाधिक 48 घरेलू प्रसव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घिरोर के अंतर्गत हुए हैं जो कि चिंताजनक हैं। 

Advertisements
Astrologer Sanjeev Chaturvedi

चिकित्साधिकारियों को कहा कि कोई भी प्रसव घर पर न हो

उन्होंने प्र. चिकित्साधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोई भी प्रसव घर पर न हो, गर्भवती महिलाओं के परिजनों को संस्थागत प्रसव कराने के लिए प्रेरित किया जाए, जनपद में जो घरेलू प्रसव हुए हैं, उनकी सूची बनाकर प्रस्तुत की जाए, घर पर हुये प्रसव वाली प्रसूताओं, बच्चों की आशा, ए.एन.एम. द्वारा गहन निगरानी की जाए। 

सुरक्षा योजना की समीक्षा

उन्होंने जननी सुरक्षा योजना की समीक्षा करने पर पाया कि वार्षिक लक्ष्य 23837 के सापेक्ष माह दिसंबर तक 16657 संस्थागत प्रसव हुए, माह दिसंबर में जनपद में 3478 प्रसव हुए, जिसमें से 2308 प्रसव सरकारी चिकित्सालयों में, 1013 निजी चिकित्सालयों में एवं 157 घरेलू प्रसव हुए हैं, निजी चिकित्सालयों में हुए प्रसव में सर्वाधिक 102 प्रसव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बेवर क्षेत्र में हुए, जिस पर उन्होंने प्र. चिकित्साधिकारी बेवर को आदेशित करते हुए कहा कि इस ओर ध्यान दें, गरीब, संसाधनहीन व्यक्तियों को सरकारी चिकित्सालयों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिले ताकि उन्हें आर्थिक असुविधा का सामना न करना पड़े श्री सिंह ने कहा कि माह दिसंबर में प्र. चिकित्साधिकारी घिरोर व उनकी टीम द्वारा अपने क्षेत्र में बेहतर कार्य किया गया है, जिस पर उन्होंने एम.ओ.आई.सी. घिरोर व उनकी टीम को प्रशस्ति पत्र एवं माह दिसंबर में सबसे खराब कार्य करने पर एम.ओ.आई.सी. करहल, बरनाहल को चेतावनी जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्र. चिकित्साधिकारियों से कहा कि अपने-अपने स्वास्थ्य केंद्रों के अधीन प्रतिमाह एक बेहतर कार्य करें, किए गए कार्य का प्रस्तुतीकरण शासी निकाय की बैठक में किया जाए। 

निजी स्थल पर आयोजित न किए जाएं, वी.एच.एन.डी. सत्र विद्यालय

उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि वी.एच.एन.डी. सत्र किसी भी दिशा में किसी के घर, निजी स्थल पर आयोजित न किए जाएं, वी.एच.एन.डी. सत्र विद्यालय, आंगनबाड़ी केंद्र, पंचायत सचिवालय, अन्य किसी शासकीय भवनों में ही आयोजित हो। उन्होंने पी.सी.पी.एन.डी.टी. अधिनियम के अंतर्गत संचालित अल्ट्रासाउंड सेन्टर की नियमित जांच कर अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालकों से निर्धारित शर्तों का पालन सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश नोडल अधिकारी को दिए।

जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को आदेशित करते हुए कहा कि

जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को आदेशित करते हुए कहा कि राशन डीलरवार पात्र गृहस्थ राशन कार्ड के 06 यूनिट वाले कार्ड धारकों की सूची तत्काल स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध करायें, पात्र गृहस्थ राशन कार्ड धारकों के अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनाने की प्रगति मंडल में सबसे खराब है, अभी तक 02 लाख 14 हजार के सापेक्ष पात्र गृहस्थ राशन कार्ड धारकों के मात्र 01 लाख 73 हजार गोल्डन कार्ड ही बन पाए हैं। 

परिवार कल्याण कार्यक्रम

उन्होने परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान महिला नसबंदी के लक्ष्य के सापेक्ष बेहतर प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए कैंप आयोजित कर पुरूष नसबंदी के लक्ष्य की भी पूर्ति करने के आदेश प्रभारी चिकित्साधिकारियों को दिये, परिवार कल्याण कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद में महिला नसबंदी के वार्षिक लक्ष्य 1000 के सापेक्ष अब तक मात्र 907 एवं पुरुष नसबंदी के वार्षिक लक्ष्य 20 के सापेक्ष मात्र 05 की पूर्ति की चुकी है।

टी.बी. मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत जनपद में चिन्हित क्षय रोगियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं

उन्होंने जिला क्षय रोग अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि टी.बी. मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत जनपद में चिन्हित क्षय रोगियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के साथ-साथ शासन द्वारा उपलब्ध करायी जा रही सुविधाओं का लाभ समय से मिले ताकि वह जल्द से जल्द सेहतमंद हो सके, क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि जनपद की 20 ग्राम पंचायतें टी.बी. मुक्त ग्राम पंचायत घोषित हेतु चयनित हुयी हैं, इन ग्राम पंचायतों में 01 से अधिक टी.बी. का मरीज नहीं हैं, 28 दिसम्बर तक चयनित ग्राम पंचायतों में सर्वे का कार्य पूर्ण कराकर इन्हें क्षय रोग मुक्त ग्राम पंचायत घोषित कराने की कार्यवाही होगी। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नेहा बंधु

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नेहा बंधु, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ आर.सी. गुप्ता, मुख्य चिकित्साधीक्षक डॉ. मदन लाल, जिला विद्यालय निरीक्षक अजय कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दीपिका गुप्ता, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. संजीव राव बहादुर, डॉ अनिल वर्मा, एस.एम.ओ. डी.एम.सी. यूनिसेफ संजीव पांडेय, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ आशुतोष, आई.एम.ए. के प्रतिनिधि डॉ. संजय अग्रवाल, समस्त प्र. चिकित्साधिकारी, डी.पी.एम. संजीव कुमार आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़िए।

करहल में सोसायटी फॉर ब्राइट फ्यूचर संस्था ने किया सरानीय कार्य

पोषण अभियान के अंतर्गत गठित जिला पोषण समिति की बैठक की

सेठ प्रकाश नाथ वर्मा नहीं रहे नगर में शोक की लहर

उ.प्र. खादी तथा ग्रामोद्योग विभाग द्वारा विपणन विकास सहायता जागरूकता शिविर का आयोजन किया

Advertisements
Advertisements

Leave a comment

Discover more from News VMH

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading