गुरुद्वारा साहिब में गुरु गोविंद सिंह का 50वां प्रकाश उत्सव दीवान सजाकर मनाया गया

Advertisements
गुरुद्वारा साहिब में गुरु गोविंद सिंह का 50वां प्रकाश उत्सव दीवान सजाकर मनाया गया

गुरुद्वारा साहिब में गुरु गोविंद सिंह का 50वां प्रकाश उत्सव दीवान सजाकर मनाया गया

Advertisements

जिला मैनपुरी रिपोर्टर रोहित यादव

गुरु गोविंद सिंह सिक्खों के दसवें और अंतिम गुरु थे श्री गुरु तेग बहादुर जी के बलिदान के उपरांत 10 में गुरु बने और एक महान योद्धा चिंतक कवि भक्त एवं अध्यामिक नेता थे और बैसाखी के दिन उन्होंने खालसा पंथ की स्थापना की जो सिखों के इतिहास का सबसे महत्वपूर्ण दिन मनाया जाता है गुरु गोविंद सिंह ने पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब को पूरा किया था और उन्होंने अन्याय अत्याचार और पापों को खत्म करने के लिए और धर्म की रक्षा के लिए मुगलों के साथ 14 युद्ध लड़ी धर्म की रक्षा के लिए समस्त परिवार का बलिदान किया और आज गुरुद्वारा साहिब में गुरु गोविंद सिंह का प्रकाश उत्सव प्रात:एवं सायं के लिए विशेष दीवान सजाकर मनाया गया और पिछली कई दिनों से गुरुद्वारा साहिब में कार्यक्रम आयोजित किये गए श्री निशांत साहब का चोला सेवा एवं सहज गुरु गोविंद सिंह का प्रकाश उत्सव के उपलक्ष में साहब हरजीत सिंह आगरा वालों ने विशेष कीर्तन द्वारा गुरु पिता के इतिहास को रूबरू कराया मुख ग्रंथि जय सिंह हरि सिंह ने गुरु गोविंद सिंह का लासनी इतिहास बताया और गुरुद्वारा में सभी पार्टियों के नेता पहुंचे भाजपा जिला अध्यक्ष राहुल चतुर्वेदी और सपा के पूर्व विधायक राजकुमार ने लोगों को गुरु पिता के पद चिन्हो पर चलने के लिए प्रेरित किया और भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रदीप सिंह, जिला प्रचारक नमन सिंह, सपा के जिला अध्यक्ष आलोक सिंह शाक्य,शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव और अन्य लोग मौजूद रहे

Advertisements
Astrologer Sanjeev Chaturvedi

यह भी पढ़िए।

Advertisements
Advertisements

Leave a comment

Discover more from News VMH

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading