कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक – News VMH

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक [News VMH-Amethi] कौशल विकास मिशन के अंतर्गत राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान युवाओं को कई क्षेत्रों में दक्ष बनाने के साथ उन्हें रोजगार की मुहिम से जोड़ रहा है. जिसके लिए समय-समय पर कौशल विकास मिशन के तहत युवाओं को रोजगार से जोड़ा जाता है और उन्हें निशुल्क रूप से प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध कराया जाता है. अब तक कई ऐसे युवा हैं, जो अलग-अलग क्षेत्र में रोजगार से जुडे हुए हैं।

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

निशुल्क रूप से दिया जाता है प्रशिक्षण

अमेठी जिले के सभी राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में निशुल्क रूप से प्रशिक्षण दिया जाता है. इस प्रशिक्षण में युवाओं को संस्थान की तरफ से सभी सुविधा निशुल्क उपलब्ध कराई जाती है. किसी भी प्रकार का शुल्क संस्थान की तरफ से युवाओं से नहीं लिया जाता और उन्हें रोजगार से जोड़ा जाता है. संस्थान की तरफ से युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण दिया जाता है. इनमें इलेक्ट्रॉनिक, मैकेनिक, ड्राफ्टमैन, सिविल टेक्नीशियन, पावर इलेक्ट्रॉनिक, फिटर, टर्नर, फैशन डिजाइनिंग समेत कई प्रकार का प्रशिक्षण संस्थान की तरफ से दिया जाता है।

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

तीन नए कोर्स किए गए शामिल

आपको बता दें कि युवाओं को तकनीकी रूप में दक्ष बनाने के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान ने इस वित्तीय वर्ष में तीन नए कोर्सेज को अपने संस्थान में जोड़ा है. उनमें पार्लर, सिलाई और कंप्यूटर का भी प्रशिक्षण अब आईटीआई संस्थान निशुल्क कराएगा.

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

आवेदन करने के लिए यह होनी चाहिए उम्र

आपको बता दें कि प्रशिक्षण हेतु आवेदन करने के लिए अभ्यर्थी की कम से कम 14 वर्ष या अधिकतम 35 वर्ष उम्र होनी चाहिए. इस उम्र के अभ्यर्थी अपने आधार कार्ड, अपने शैक्षिक प्रमाण पत्र, फोटो, अपने निवास प्रमाण पत्र, अस्थाई पता और मोबाइल नंबर के साथ संस्थान पहुंचकर आवेदन कर सकता है.

कौशल विकास मिशन के तहत युवा बनेंगें रोजगार के जनक

पहले आओ पहले पाओ के आधार पर मिलेगा लाभ

प्लेसमेंट अधिकारी अजय कुमार सिंह बताते हैं कि संस्थान की तरफ से विभिन्न क्षेत्रों में निशुल्क रूप से प्रशिक्षण दिया जाता है. प्रशिक्षण के दौरान बैग, किताबें रहना-खाना समेत अन्य सुविधाएं संस्थान के द्वारा निशुल्क उपलब्ध कराई जाती है. उन्होंने बताया कि अब 70 फीसदी युवाओं को रोजगार से जोड़ा जा चुका है. यह प्रशिक्षण लगातार चलता रहता है.

Read This: सांप या कुत्ते काटने पर, करें ये 3 काम, बच जाएगी जान

Leave a comment