आगरा में गलन जारी, दो दिन और कोल्ड डे कंडीशन, 27 तक स्कूल बंद – News VMH

आगरा में गलन जारी, दो दिन और कोल्ड डे कंडीशन, 27 तक स्कूल बंद

आगरा में गलन जारी, दो दिन और कोल्ड डे कंडीशन, 27 तक स्कूल बंद
आगरा में गलन जारी

आगरा में गलन जारी, दो दिन और कोल्ड डे कंडीशन, 27 तक स्कूल बंद

आगरा में गलन जारी, दो दिन और कोल्ड डे कंडीशन, 27 तक स्कूल बंद [News VMH-Agra] आगरा में शीत लहर और गलन का प्रकोप जारी है। ठंड से अभी शहरवासियों को राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। मौसम विभाग का दो दिन और कोल्ड डे कंडीशन रहने का पूर्वानुमान है। बुधवार दोपहर 12 बजे तक भी सूरज के दर्शन नहीं देने से न्यूनतम तापमान 7 डिग्री है।

स्कूलों का अवकाश 27 जनवरी तक

आगरा में गलन जारी, शर्दी को देखते हुए स्कूलों का अवकाश 27 जनवरी तक बढ़ा दिया गया है, कई वर्षों बाद आगरा में शर्दी इतने लम्बे समय तक देखने को मिल रही है, नहीं तो पिछले कुछ वर्षों से शर्दी केवल 15 दिन ही पड़ती दिखाई देती थी।

एक माह से भीषण सर्दी

आगरा पिछले एक माह से भीषण सर्दी की चपेट में है। सर्दी अधिक होने से लोग घरों में कैद होने को मजबूर हैं। सुबह के समय घना कोहरा छाया रहता है, जिससे दृश्यता प्रभावित हो रही है। सड़कों पर वाहनों की आवाजाही कम है।

मौसम विभाग के अनुसार, आगरा में बुधवार को अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। गुरुवार को अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

शीत लहर से बचाव के लिए लोगों को गर्म कपड़े पहनने, घर से बाहर निकलते समय टोपी, दस्ताने और मास्क लगाने की सलाह दी गई है। बुजुर्गों, बच्चों और बीमार लोगों को विशेष ध्यान रखने की जरूरत है।

शीत लहर से होने वाले नुकसान

शीत लहर से कई तरह के नुकसान हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • जुकाम, सर्दी, खांसी, फ्लू आदि बीमारियां।
  • हाइपोथर्मिया, जो एक गंभीर स्थिति है जिसमें शरीर का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से कम हो जाता है।
  • दिल और फेफड़ों की समस्याएं।
  • दुर्घटनाएं, क्योंकि ठंड के कारण लोगों की सोचने और समझने की क्षमता प्रभावित होती है।

शीत लहर से बचाव के उपाय

शीत लहर से बचाव के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं:

  • गर्म कपड़े पहनें, जिसमें टोपी, दस्ताने और मास्क शामिल हों।
  • घर से बाहर निकलते समय पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।
  • अधिक शराब और कैफीन का सेवन न करें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • बुजुर्गों, बच्चों और बीमार लोगों को विशेष ध्यान दें।

आगरावासियों को चाहिए कि वे शीत लहर से बचाव के उपाय करें और स्वस्थ रहें।

राष्ट्रीय बालिका दिवस 2024: बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ

Leave a comment